बुरे समय में ये काम जरुर करना- [Doing this work in bad times]

    बुरे समय में ये काम जरुर करना- [Doing this work in bad times]


दोस्तों बुरे समय में इंसान के अंदर आस्था, विश्वास और सव् की कमी हो जाती है। इन सब का सीधा असर उसकी जिंदगी पर पड़ता है। बुरे समय में इंसान किन – किन परिस्थितियों से गुजर सकता है और ऐसे समय में उसे क्या करना चाहिए। यह सब समझाने केलिए मैं आपको एक कहा Hindi कहानी नही सुनाता हूँ। Hindi कहानी  | बुरे समय में ये काम जरुर करना

Friends, lack of faith, trust and self are lost within a bad time. All of them have a direct impact on his life. In the worst of times, the human being can pass through which circumstances and what to do in such a time. To explain all this, I do not tell you a Hindi story. Hindi Story | Doing this work in bad times


बुरे समय में ये काम जरुर करना चाहिए[This work must be done in bad times]

एक बार की बात है। एक अमीर व्यक्ति ने समुन्द्र में घूमने के लिए एक नाव बनवाई। एक दिन वह नाव को लेकर समुन्द्र में घूमने निकल गया। जब वह समुन्द्र में काफी आगे जा चुका था। तब अचानक समुन्द्र में भयंकर तूफ़ान आ गया।

उस भयंकर तूफ़ान के कारण उसकी नाव पूरी तरह से तहस – नहस हो गयी। अपनी जान बचाने के लिए वह व्यक्ति जीवन Jacket पहनकर समुन्द्र में कूद गया। उसे पास मेंही एक टापू दिखाई दिया।

once upon a time. A rich person made a boat to roam the sea. One day he went out to roam the boat with the boat. When he had gone quite a lot in the sea. Then suddenly there was a severe storm in the sea.

Due to that fierce storm, his boat was completely ruined. To save his life, the person jumped into the sea wearing life jacket. He also saw an island nearby.


वह तैरता – तैरता उस टापू पर पहुँच गया। टापू पर पहुँचने के बाद उसे पता चला की उस टापू पर कोई भी नहीं था। टापू के चारों ओर समुन्द्र कारण उसे दूर – दूर तक कोई भी दिखाई नहीं दे रहा था।

अब उस व्यक्ति की समझ में नहीं आ रहा था की आगे क्या किया जाए। उसके मन में एक ख्याल आया की अगर भगवान ने उसे बचाया है तो आगे का रास्ता भी वही दिखायेगा। अब उसे भूख से बचने का तरीका ढूँढना था।

वह उस टापू पर घुमा और फल खाकर दिन बिताने लगा। जैसे – जैसे दिन बीत रहे थे।उसकी उम्मीद भी टूटती जा रही थी। एक दिन सके मन में ख्याल आया की अगर उसने किसीके साथ बुरा नहीं किया है तो उसके साथ ऐसा क्यों हो रहा है।

He floats on floating - floating on that island. After reaching the island, he came to know that there was no one on that island. Nobody was visible to the distance around the island due to him - far away.

Now the person did not understand what to do next. One thought came to her mind that if God has saved her, then the path ahead will also show her the same way. Now she had to find a way to avoid hunger.

He started moving on that island and ate fruit to eat the day. As the days were passing.His hope was also breaking down. One day, the thought came to mind that if he has not done bad to anyone, why is this happening to him?


धीरे – धीरे करके उसका भगवान पर से भरोसा उठने लगा। एक दिन उसने सोचा  – अगर मेरी पूरी जिंदगी इसी टापू पर गुजरने वाली है तो क्यों न इस टापू पर  लिए एक झोपड़ी बना लू।

अब उसने पेड़, पत्ते, झाड़ियाँ और लकड़ियों की मदत से एक झोपडी बना ली। झोपडी बनाने के बाद वह उसे देखकर सोचने लगा की आज से मुझे पेड़ के नीचे नहीं बल्कि अपनी झोपड़ी में सोने को मिलेगा।

कुछ ही समय बाद रात हो गयी। धीरे – धीरे मौसम बिगड़ने लगा। आसमान में बिजली कड़क रही थी। तभी अचानक बिजली उस व्यक्ति की झोपडी पर गिर गयी और उसकी झोपडी जलने लगी।


Gradually, he started reliance on his God. One day he thought - If my whole life is about to pass on this island, why not make a cottage on this island.

Now he has made a hut with the help of trees, leaves, shrubs and woods. After making the hut, he started to think about it and thought that from today onwards I will get gold in my cottage, not under the tree.

After a while, it was night. Gradually the weather started deteriorating. The electricity in the sky was cracking. Then suddenly the power fell on the person's hut and his cottage started burning.


यह देखकर वह व्यक्ति पूरी तरह से टूट गया। उसकी आँखों से आँसू निकलने लगे। वह आसमान की तरफ देखकर बोला – हे भगवान, मैंने ऐसा कौन सा पाप किया है। जिसकी मुझे इतनी बड़ी सजा मिल रही है।

वह रोते हुए भगवान को अपने दुखड़े सुना ही रहा था।अचानक एक नाव टापूके रुकी। नाव में से कुछ लोग उतरकर उसके पास आये और बोले हम तुम्हे बचाने आये है।

Seeing this, that person was completely broken. Tears started coming out with his eyes. He looked at the sky and said, 'God, what kind of sin have I committed?' Whom I am getting such a big punishment.

He was listening to God crying to the crying crying. Some of the people came down to him and said, 'We have come to save you.'

हम इस टापू के पास से गुजर रहे थे। तभी अचानक हमे एक झोपडी जलती हुई दिखाई दी। हमे लगा कोई मुशीबत में है। तुमने अपनी झोपडी जलाकर बहुत ही अच्छा किया। अगर तुम अपनी झोपडी नहीं जलाते तो हमे पता ही नहीं चलता की कोई इस टापू पर फंसा हुआ है।

यह सुनकर उस व्यक्ति की आँखों से आँसू बहने लगे। उसने भगवान से माफ़ी मांगते हुए कहा – मुझे नहीं पता था की आपने मुझे बचाने के लिए मेरी झोपडी में आग लगाई थी।

मुझे आज पूरा यकीन हो गया की आप अपने भक्तो का हमेशा ध्यान रखते है। आपने मेरे सब्र का इम्तिहान लिया लेकिन मैं उसमे सफल नहीं रहा।

दोस्तों इस Hindi कहानी से मैं आपको यह समझाना चाहता हूँ की इस दुनिया में हर इंसान को बुरे समय से गुजरनापड़ता है। बुरे समय के गुजरने के बाद आपको अहसास होगा की आपके साथ जो कुछ भी हुआ। वहअच्छा हुआ क्योकि अगर वह सब कुछ नहीं होता तो आप आज इस मुकाम पर नहीं होते। Hindi कहानी | बुरे समय में ये काम जरुर करना

We were passing near this island. Then suddenly we saw a hut burning. We are in no mood. You did a great job by burning your hut If you do not burn your hut, then we do not know that someone is trapped on this island.
Tears started flowing through the eyes of that person. He apologized to God and said - I did not know that you set fire to my hut to protect me.
I am convinced today that you always take care of your devotees. You tested my patience but I have not been successful in it.
Friends, I want to tell you this Hindi story that every person in this world has to go through bad times. After the bad times have passed, you will realize that whatever happened to you. That's good because if it was not all that, then you are not at this stage today. Hindi Story | Doing this work in bad times

Post a comment

0 Comments